स्‍वैच्छिक संस्‍था पर्यावरण जन कल्‍याण समिति पता 56- शाक्ति पुरम कालोनी नियर डायमण्‍ड टाकीज रामपुर (उ0 प्र0) की स्‍थापना दिनाकं 01.09.2004 में बच्‍चो को प्राथमिक स्‍तर से उच्‍च स्‍तर तक की शिक्षा बेरोजगार युवको /युवतियों व महिलाओ के लिये व्‍यवसायिक प्रशिक्षण एंव समाज के सभी वर्गो के लिये साक्षरता स्‍वाथ्‍या परिवार कल्‍याण पर्यावरण विकलागं कल्‍याण युवा विकास दहेज एंव नशा उन्‍मूलन निर्बल वर्ग का समाजिक व शैक्षणिक , विकास , स‍माजिक कुरितीयो की रोक थाम व अन्‍य समाजिक कार्यक्रम आयेजित कर आम जनता को लाभान्वित करने हेतु की गई है इस सस्‍था का सोसाईटी रजिस्‍ट्रेशन एक्‍ट- 21,1860 के अन्‍तर्गत दिनाकं 14.09.2004 को रजि0 हुआ था। सस्‍था ने अपने अल्‍पतम श्रोतो द्वारा क्षेत्र में समाजिक कार्यो के लिये एक उज्‍जवल छवि प्राप्‍त की है । सस्‍था द्वारा वर्ष – 2017-18 में सं‍चालित कार्येक्रमो/क्रिया – कलापो संक्षिप्‍त विवरण निम्‍नवत है :-

1. पर्यावरण जागरूगता शिविर

सस्‍था में वर्ष 2017 -18 में पर्यावरण के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है । सस्‍था ने जिला रामपुर के ब्‍लाक चमरौआ के ग्राम ककरौआ , इंड्रा ,ग्राम लालूनगला , ग्राम मुतियापुरा , ग्राम अशोकपुर पटटी में पर्यावरण शिविरो का आयेजन कर पर्यावरण को दूषित होने से बचाना , दूषित पर्यावरण से होने वाली बीमारी आदि की व्‍याख्‍या कर ग्रामिण जनता को जगरूक किया है एंव पर्यावरण पदूषण कम करने के लिये लोगो को पेड पौधे लागने हेतु प्रेरित किया। सस्‍था ने इस वर्ष 1000 पेड लगवा कर भी ग्रामीण जनता को लाभान्वित किया है । शिविर में आये प्रतिभागियो को जलपान कराकर कार्यक्रम का समापन किया गया ।

2. स्वास्थ्य जागरूकता शिविर

संस्था ने वर्ष 2017- 18 में जिला रामपुर के ब्लॉक चमरौआ के अंतर्गत ग्राम कल्यानपुर पट्टी, ग्राम हरियाल, ग्राम खजुरिया,ग्राम मगरमऊ,ग्राम हरदासपुर प्रतापपुर में स्वास्थ्य जागरूकता शिविरों का  आयोजन किया। शिविर में संस्था के द्वारा बुलाए गए चिकित्सक ने शिशुाओं में होने वाले रोग उनका निदान व बचाव पर विस्तृत चर्चा की उन्होंने जानकारी दी कि किस प्रकार बच्चों की बीमारी की प्रारंभिक जानकारी होने पर माता व उनके संरक्षक उसका उपचार व बचाव कर सकते हैं उन्होंने बच्चों को स्वस्थ रखने के तरीकों का विशादवर्णन किया बच्चों को तेज बुखार, खसरा, निमोनिया,पीलिया सूखाग्रस्त आदि रोगों की चिकित्सा हेतु शीघ्र चिकित्सक की परामर्श से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने हेतु प्रेरित किया गया। खासतौर पर पल्स-पोलियो की खुराक पिलाने हेतु  भी जागरूक किया है। शिविर में टी बी रोग से पीड़ित महिला एवं पुरुषों को जागृत करने के लिए अवगत कराया गया कि टी बी रोग असाध्य रोग नहीं है जिसका इलाज ना हो सके एवं उनके परिवारों को भी जागृत किया गया कि यह रोग छुआछूत का रोग नहीं है इसलिए समाज को इन्हें अपने समाज से दूर नहीं रखना चाहिए बल्कि टी बी रोग से पीड़ित मरीजों को सरकारी अस्पताल में उपलब्ध दवा डॉट लगातार सेवन कराकर टी बी रोग से मुक्ति दिला सकते हैं इसके अतिरिक्त शिविर में प्रतिभागियों को समझाया गया कि कुछ रोग भी असाध्य रोग नहीं है जिसका इलाज न हो सके एवं उनके परिवारों को भी जागृत किया गया कि यह रोग छुआछूत का रोग नहीं है इसलिए समाज को इन्हें अपने समाज से दूर नहीं रखना चाहिए बल्कि इन्‍हे सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध (एम डी टी ) का सेवन कराकर इस रोग से मुक्ति  दिलाये शिविर में असुरक्षित यौन संबंधों से उपजने वाली बीमारी एड्स के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा की और बताया कि असुरक्षित यौन संबंधों से एड्स की लाइलाज बीमारी हो जाती है जिसका अभी तक कोई उचित इलाज नहीं है और यह रोग मृत्यु का कारण बन जाता है एड्स की रोकथाम के लिए शिविर के प्रत्येक व्यक्ति को जानकारी दी कि एड्स से बचाव किया जा सकता है जिसके लिए कन्‍डोम का इस्तेमाल किया जाना अनिवार्य है जिससे जनसंख्या वृद्धि पर भी रोक लगेगी और एड्स का भी खतरा नहीं होगा शिविर में गर्भ निरोधक अपनाने तथा छोटे परिवार से होने वाले लाभ आदि की जानकारी से लाभान्वित किया है सस्‍था ने उक्‍त शिविर में यौन शिक्षा , गर्भ रोकने के उपाय एवं प्रजनन के समय की सावधानियों आदि की जानकारी से ग्रामीण जनता को लाभान्वित किया है शिविर में टीकाकरण की महत्‍ता बताते हुये ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं तथा बच्चों को सरकारी अस्पताल में उपलब्ध  टीकाकरण की सुविधा का लाभ उठाने हेतु माता पिता को प्रेरित किया गया शिविर में लोगों का परीक्षण कर दवाइयां भी निशुल्क वितरित की गई शिविर में आए प्रतिभागियों को जलपान करा कर शिविर का समापन किया गया।

3. महिला जागृति शिविर

सस्‍था ने वर्ष 2017-18 में जिला रामपुर के ब्लॉक मिलक के ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं में जागृति उत्पन्न करने के लिए ग्राम परम ग्राम नरखेड़ा ग्राम नगला उदेई ग्राम बंशीपुर ग्राम गंगापुर कदीम में शिविर आयोजित कर महिलाओं को समाज में मान सम्मान दिलाने तथा उनको आत्मनिर्भर बनाने में जागरूक किया है आज की महिला शिक्षित महिला अच्छे समाज की जननी होती है उक्‍त सूक्ति को स्पष्ट कर समझाया गया है जिससे महिला शिक्षा के प्रति जागरूक हो सके और अत्याचार का मुकाबला कर सके उन्हें पंचायती राज में उनका योगदान तथा महिलाओं के अधिकारों की भी जानकारी से लाभान्वित किया है इसके अतिरिक्त संस्था ने क्षेत्र में फैली कुरीतियों के निवारण हेतु क्षेत्र की जनता को सामाजिक कुरीतियों जैसे दहेज प्रथा बाल विवाह अंधविश्वास जादू टोना टोटका आदि के निवारण हेतु उन्हें जागरूकता प्रदान की है इसके लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया शिविर में महिलाओं को आत्मनिर्भर होने के लिए जोर दिया गया और बताया गया जागृत महिला सिलाई कढ़ाई बुनाई पेंचवर्क आदि का प्रशिक्षण लेकर अपने घरों में यह कार्य करके अपना जेब खर्च निकाल सकती हैं जिससे उन्हें बार-बार अपने पतियों से अपनी छोटी-छोटी जरूरतों के लिए पैसा मांगना भी नहीं पड़ेगा और पतियों को भी परिवार का खर्च चलाने में आसानी होगी शिविर में आयी प्रतिभागियों को जलपान कराकर कार्यक्रम का समापन किया

4. वृक्षरोपण कार्यक्रम

संस्था ने वर्ष 2017-18 में पर्यावरण के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है संस्था ने जिला रामपुर के ब्लाक शाहाबाद के ग्राम पड़रिया ग्राम खि‍रका ग्राम सूरजपुर ग्राम करैथी ग्राम खेड़ा ग्राम चंद्रपुरा कलां में वृक्षारोपण व पर्यावरण कल्याण शिविर का आयोजन कर पर्यावरण को दूषित होने से बचाना दूषित पर्यावरण से होने वाली बीमारी आदि की व्याख्या कर ग्रामीण जनता को जागरूक किया है एवं पर्यावरण प्रदूषण कम करने के लिए लोगों को पेड़ पौधे लगाने हेतु प्रेरित किया संस्था द्वारा इस वर्ष 500 पेड लगवाकर भी ग्रामीण जनता को लाभान्वित किया गया है शिविर में आय प्रतिभागियों को जलपान करा कर कार्यक्रम का समापन किया गया

5. महिलाओं सिलाई कढ़ाई प्रशिक्षण कार्यक्रम

संस्था ने वर्ष 2017-18 जिला रामपुर के स्‍वार ब्लॉक के नगर व ग्रामीण क्षेत्र की बेसहारा विधवा तथा बेरोजगार महिलाओं व बालिकाओं को रोजगार उपलब्ध कराने व आत्मनिर्भर बनाने हेतु ग्राम खरदिया,ग्राम सोनकपुर, ग्राम समोदिया प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत महिलाओं को लाभान्वित किया इस कार्यक्रम में निराश्रि‍त बेसहारा गरीब एवं सामान्य पिछड़ी जाति/अनुसूचित जाति की कुल 60 महिलाओं बालिकाओं को सिलाई कटिंग कढ़ाई बुनाई आदि का निशुल्क प्रशिक्षण देकर लाभान्वित किया है ।

6. स्‍वच्‍छ पेयजल एंव स्‍वच्‍छता शिविर

संस्था द्वारा वर्ष 2017-18 जिला रामपुर के स्‍वार ब्लॉक के ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम सीतारामपुर ग्राम मंसूरपुर ग्राम सुलतानपुर पट्टी में ग्रामीण स्वच्छ पेयजल एवं स्वच्छता शिविर का आयोजन किया गया शिविर में गांवों में रहने वाले सभी लोगों को स्वच्छ पेयजल के बारे में जानकारी प्रदान की और बताया गया कि पानी ढक कर रखें यदि पानी में कोई कीटाणु हो तो तुरंत ग्राम पंचायत में शिकायत करें दर्ज करा कर पानी में कीटनाशक दवा का गोली का सरकारी पाइप के पानी की व्यवस्था ना हो सके तो सरकारी इंडिया मार्क हैंडपंप का पानी पीने के प्रयोग में लाएं सरकारी हैंडपंप का पानी उपलब्ध हो तो घर के नालों का पानी भेजो स्वच्छता के लिए बहुत ही लाभकारी होता है इसके साथ शिविर में लोगों को जानकारी प्रदान की गई कि स्वस्थ रहने के लिए बहुत ही आवश्यक है कि गांव की गलियों और नालियों को एक दिन साफ सुथरा रखा जाए पानी जमा होने दिया जाए जिससे वातावरण भी स्वच्छ रहेगा स्वास्थ्य भी शिविर में आए प्रतिभागियों को जलपान कराकर कार्यक्रम का समापन किया गया।

7. उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम

संस्था द्वारा वर्ष 2017-18 में जिला रामपुर के सैदनगर  ब्लाक क्षेत्र में उपभोगक्ताओं के कल्याण ग्राम दलेलनगर, ग्राम मजरा, भटपुरा ग्राम सैदनगर  में उपभोक्ता कल्याण शिविर का आयोजन किया गया शिविर में आए लोगों को अवगत कराया गया कि हर व्यक्ति एक उपभोक्‍ता है, इसलिए हर व्यक्ति को अपनी जरूरतों के हिसाब से किसी भी सामग्री या वस्तु की खरीदारी करते समय मोलभाव करना चाहिए क्योंकि किसी भी चीज पर छापा गया रेट सरकार द्वारा तय किया हुआ नहीं होता बल्कि इसे तो उत्पादक तय करते हैं अर्थात मोलभाव के बाद ही कोई वस्तु या सामग्री खरीदें और उसका बिल वाउचर जरूर ले ताकि कोई भी वस्तु या सामग्री खराब पाए जाने पर आप दुकानदार से बिल वाउचर दिखाकर वापस कर सकते हैं मरम्मत करा सकते हैं और यदि दुकानदार नहीं मानता तो आप उपभोक्ता फोरम में शिकायत कर उस वस्तु का मुआवजा प्राप्त कर सकते हैं खास बात यह भी है कि कोई सामान मशीनरी आई एस आई मार्क खरीदें जिसकी एक गारंटी होती है और विश्‍वसनीय और मजबूत है इसलिए आज का जागरूक उपभोक्ता होना बहुत जरूरी है शिविर में इस प्रकार की जानकारी प्रदान कर उपभोक्ताओं को जागरूक कर लाभान्वित किया गया शिविर में आए प्रतिभागियों को जलपान करा कर कार्यक्रम का समापन किया गया।

8. युवा विकास जागृति शिविर

संस्‍था ने युवा वर्ग के विकास हेतु वर्ष 2017-18 में जिला रामपुर के ब्लॉक बिलासपुर के ग्राम पिपलिया, रायजादा ग्राम जिबाई कदीम, ग्राम नूरपुर ग्राम महूनगर ग्राम गंगापुर वहापुर में युवा विकास शिविरो के माध्यम से युवाओं को यह समझाने का प्रयास किया कि युवाओं को लगन व मेहनत से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद यदि सरकारी नौकरी नहीं लगती है तो उसे हतप्रभ न होकर बैंक आदि से ऋण प्राप्त करके अपना स्वत:स्वरोजगार स्थापित करना चाहिए जिससे युवा वर्ग एक अच्छी आय प्राप्त करके एक सभ्य नागरिक की तरह अपना विकास कर जीवन यापन कर सकता हैं और यदि कृषि भूमि उपलब्ध है तो युवा वर्ग वैज्ञानिक विधि से खेती से भी अधिक उपज और अधिक आय प्राप्त कर सकता है इसके अतिरिक्त संस्था ने युवाओं को जागृत करने व उनमें कर्तव्यबोध की भावना विकसित करने के उद्देश्य से युवाजगृती विकास शिविर में युवाओ से पश्‍चाताप संस्‍कृति के बढ़ते प्रभाव, नशाखोरी की लत और संस्कारों के प्रति बढती अरूचि के प्रति चिंता व्यक्त की गई युवाओं के द्वारा वृद्ध माता –पिता कि उपेक्षा इस हद तक बढ़ गई है कि  पढ लिखकर युवा पलट कर अपने घरो की ओर नही देखते वह शहरो कि और पलायन कर  जाते हैं और वहीं नौकरी छोटे-मोटे धन्‍धे कर गृहस्‍थी बसाकर रहने लगते हैं संयुक्त परिवारों की भारतीय  पुष्‍ट परंमपरा छिन्‍न भिन्‍न होकर रह गई है और युवा वर्ग  दिग्‍भ्रमित होकर रास्ते खोज रहा है डांस और कल्‍बो की विद्वरूप और पश्‍चतय संस्कृति में डूबा युवा वर्ग  पुरूष और क्रांति की ज्वाला के स्थान पर राग के ढेर में तब्दील हो चुका है भारत की स्वतंत्रता का दीप प्रज्वलित करने वाला नौजवान आज स्वयं अंधेरों की तंग गुफाओं में खोया हुआ प्रतीत होता है विद्वान व्यक्तियों ने कार्यक्रम में युवाओं का आवाहन करते हुए उन्हें अपने गौरवशाली अतीत और संस्कारों का स्मरण कराया कार्यक्रम में अप्रत्याशित रूप से युवा युक्तियों से सहभागिता की अंत में सभी को जलपान करा कर आभार व्यक्त करते हुए कार्यक्रम का समापन किया।

9. महिला एवं बाल कल्याण कार्यक्रम

संस्था ने वर्ष 2017-18 में देश में बढ़ती जनसंख्या को रोकने के लिए उक्त कार्यक्रम को ग्रामीण क्षेत्र में संचालित किया है उक्त कार्यक्रम की सहायता से जिला रामपुर के ब्लाक सैदनगर के ग्राम मुरसैना ग्राम खौद, ग्राम मिलक, बहादुरगंज  ग्राम कुचैटा ग्राम नगलिया आकिल में महिला एवं बाल कल्याण देखरेख कार्यक्रम का आयोजन किया गया शिविर में  लघु नाटक भजन कविता कव्वाली आदि के माध्यम से  गर्भनिरोधक अपनाने तथा छोटे परिवार से होने वाले लाभ की जानकारी से लाभान्वित किया है  सस्‍था ने उक्‍त शिविर में यौन शिक्षा गर्भ रोकने के उपाय एंव प्रजनन के समय की सावधानियों आदि की जानकारी में ग्रामीण जनता को लाभान्वित किया है शिविर में जानकारी दी कि किस प्रकार बच्चों की बीमारी की प्रारम्भिक जानकारी होने पर माता व  उसके संरक्षक उसका उपचार व बचाव कर सकते हैं उन्होंने बच्चों को स्वस्थ रखने के तरीकों का विसादवर्णन किया बच्चों को तेज बुखार ,खसरा निमोनिया पीलिया सूखाग्रस्त आदि रोगों की चिकित्सा हेतु शीघ्र चिकित्सक कि परामर्श से चिकित्‍सा सुविधा उपलब्ध कराने हेतु प्रेरित किया गया जागरूक किया  गया खासतौर पर पल्‍स पोलियो कि खुराक पिलाने हेतु भी जागरूक किया है और जन्‍म्‍ के समय मिले कार्ड के अनुसार शिशु को प्रथम दिन से 5 वर्ष की आयु तक लगने वाले टीको की विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान कर शिशु टीकाकरण कार्यक्रम में सहयोग प्रदान किया विभिन्‍न शिविरो की सहायता से बच्‍चो व गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ रखने हेतु टीकाकरण की महत्ता बताते हुए ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं तथा बच्चों को सरकारी अस्पताल में उपलब्ध टीका करण  सुविधा का लाभ उठाने हेतु माता पिता को प्रेरित किया गया और ग्रामीण क्षेत्र तथा बच्चों में सरकारी अस्पताल के कार्यकर्ताओं के सहयोग से टीकाकरण कराया गया।

10. कौशल विकास कार्यक्रम

संस्था ने वर्ष 2017-18 में जिला रामपुर के चमरौआ ब्‍लाक के बेरोजगार बालक बालिकाओं को रोजगार उपलब्ध कराने व आत्मनिर्भर बनाने हेतु ग्राम पीपलगाव में 1 माह के कौशल विकास के अंतर्गत व्यवसायिक प्रशिक्षण शिविर में बालक बालिकाओं को लाभान्वित किया इस शिविर में निराश्रित बेसहारा गरीब अल्‍पसंख्‍यक का सामान्य जाति एवं पिछड़ी जाति व अनुसूचित जाति के 30 बालक बालिकाओं को पत्‍तीवर्क , पेचवर्क , चिकन, जरी,ज़रदोजी,दरी वुनाई का निशुल्‍क प्रशिक्षण देकर लाभान्वित किया गया है।             उक्‍त कार्यक्रमों की सहायता से समिति की कार्यकरिण समिति ने क्षेत्र में एक उज्‍जवल छवि प्राप्‍त कर ली है तथा संस्‍था के कार्यक्रताओं का मनोवल भी बढा हुआ है क्‍योकि कार्यकर्ताओ को अपने कार्य के प्रति सफलता प्राप्‍त हो रही है ।

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

©2020 All rights reserved Aakash Maindwal Foundation Designed and Maintained by Thewebsilk.com

Aakash Maindwal Foundation is registered as a Public Charitable Trust. Trust Deed is registered on 03/09/2009 with Sub Registrar, Delhi, with registration no.8270 in Additional Book No. IV, Volume No. 3158 on Page No. 183-195. Trust Deed is available on request. Aakash Maindwal Foundation is registered u/s 12A & 80G (5)(vi) of the Income Tax Act, 1961, with the Director of Income Tax (Exemption). Registration No. u/s 12A :(Ref. No. NQ.DIT (E) I 2010-11/ DEL – ARR32670 – 25062010 dated 20/09/2010 And 80 G (Ref. No. NQ.DIT (E) l 2010-11 DEL- AE22137 - 11102010 / 1646 dated 11/10/2010). Aakash Maindwal Foundation is registered under section 11(1) of the Foreign Contribution (Regulation) Act, & Registration Number is:-136810082.

Log in with your credentials

Forgot your details?